आधुनिक भारत का आधुनिक गांव

0
1185

आधुनिक भारत का आधुनिक गांव

आज की तारीख में हमारे गांव बहुत तेजी से उन्नति कर रहे हैं आधुनिक तरीके कि खेती और आधुनिक तरीके के साजो सामान से भरे हुए हैं ग्रामवासी अपने बच्चों के शिक्षा के प्रति जागरुक हो गए है।

अब वह भी अपने बच्चों को अच्छी से अच्छी शिक्षा देने में पीछे नहीं हटते ग्रामीण नवयुवक एवं नवयुवतियां शहर जाकर उच्च शिक्षा प्राप्त करते हैं बड़ी बड़ी कंपनियों में और राज की सेवा में अपना योगदान देते हैं।

  

किसान वर्ग के लोग नई तकनीकी से खेती-बाड़ी को चलन मे ला रहे हैं जिससे उनका मुनाफा और पैदावार बढ़ रही है। 
भारत सरकार के द्वारा चलाई जा रही योजना के तहत अब ग्रामवासियों को भी विदेश घूमने का मौका देती है जिससे उन्हें  नई तकनीकी की खेती(आधुनिक भारत का आधुनिक गांव) के बारे में सीखने को मिलता है।

गांव के विकास से ही शहरों का विकास होता है इसलिए तो कहते हैं कि शहर गांव  पर ही निर्भर करते हैं हमारे राष्ट्रपिता महात्मा गांधी जी ने कहा  था ‘भारत गांव में बसता है’।

आधुनिक भारत का आधुनिक गांव

अब गांव पहले से बिल्कुल विपरीत हो गए हैं अब हर गांव को प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत हर राष्ट्रीय मार्ग से जोड़ा जा रहा है।

 जिससे उनको हर बुनियादी सुविधा का लाभ मिल सके, जो अब आधुनिक भारत का आधुनिक गांव बनते जा रहे है|
   
गांव में रोजगार बढ़ाने के लिए सरकार ने छोटे छोटे उद्योग  खुलवाने के लिए व्यवस्था की है जिसमें महिलाएं को भी रोजगार मिले और अपने गांव को एक अलग पहचान दिलाएं जिसमे हस्तशिल्प लघु उद्योग का बड़ा योगदान  है।

  

हमारे गांव हमारे देश की अर्थव्यवस्था की रीढ़ है और अगर रीढ़ कमजोर पड़ जाए तो पूरा शरीर नष्ट होने लगता है इसलिए भारत सरकार निरंतर गांव के विकास के लिए प्रयास करती रही है।

गांव की राजनीति में भी अब बदलाव आने लगा है लोग सोच समझकर अपना नेता प्रतिपक्ष चुनते हैं इमानदार व्यक्ति को ही जिताने का प्रयास करते हैं जो उनको बढ़ावा दे और उनका संरक्षण करे।

   

हमारे गांव  अब आधुनिक होते जा रहे हैं पर हमें समझना चाहिए और गांव का संरक्षण करना चाहिए और गांव की जमीनों को फैक्ट्रियां लगाकर खेती की जमीनों को खत्म नहीं करना चाहिए अगर ऐसा हुआ तो हमारे देश की रीढ़ कमजोर पड़ने लगेगी।

इसलिए हमें गांव बचाने के लिए तत्पर रहना चाहिए अगर गांव बचे रहें  तो हमारा देश बचा रहेगा क्योंकि हमारा देश दो ही चीजों पर टिका हुआ  है एक जवान और एक किसान
इसलिए तो कहते हैं

“जय जवान जय किसान”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.